trust 728_90
पॉलीथीन उपयोग न करने की दी सलाह

पॉलीथीन उपयोग न करने की दी सलाह


संवाद सहयोगी चकरनगर : नेहरू युवा केंद्र संगठन युवा कार्यक्रम खेल मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार पॉलीथीन मुक्त अभियान के तहत नेहरू युवा केंद्र प्रखंड चकरनगर से राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक रामकिशोर सिंह व शैलेंद्र सिंह यादव द्वारा ब्लॉक चकरनगर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय नगला चौप में स्कूली बच्चों को प्लास्टिक मुक्त परिसर और स्वच्छता संगोष्ठी कर जागरुक किया गया।
इस दौरान पॉलिथीन के दुष्प्रभाव के बारे में बताया कि पॉलिथीन मनुष्य एवं सभी जीव-जन्तुओं के लिये बहुत हानिकारक है। इसकी रोकथाम से ही इससे निजात पाई जा सकती है। आज समाज के हर व्यक्ति को पॉलिथीन के उपयोग से बचना चाहिए तभी हम इस समस्या से छुटकारा पा सकेंगे। पॉलिथीन का बढ़ता हुआ उपयोग न केवल वर्तमान के लिये बल्कि भविष्य के लिये भी खतरनाक होता जा रहा है। पॉलिथीन पूरे देश की गम्भीर समस्या है। पहले जब खरीदारी करने जाते थे, तो कपड़े का थैला साथ लेकर जाते थे, किन्तु आज खाली हाथ जाकर दुकानदार से पॉलिथीन मांगकर सामान लाते हैं। पहले अखबार के लिफाफे होते थे किन्तु उसके स्थान पर आज पॉलिथीन का उपयोग किया जा रहा है। पॉलिथीन की पन्नियों में लोग कूड़ा भरकर फेंकते हैं। कूड़े के ढेर में खाद्य पदार्थ खोजते हुए पशु पन्नी निगल जाते हैं। ऐसे में पन्नी उनके पेट में चली जाती है। बाद में ये पशु बीमार होकर दम तोड़ देते हैं। प्लास्टिक और पॉलिथीन गाँव से लेकर शहर तक लोगों की सेहत बिगाड़ रहे हैं।प्लास्टिक और पॉलिथीन का प्रयोग पर्यावरण और मानव की सेहत दोनों के लिये खतरनाक है। कभी न नष्ट होने वाली पॉलिथीन भूजल स्तर को प्रभावित कर रही है। गर्म चाय पन्नी में डालने से पन्नी का केमिकल चाय में चला जाता है, जो बाद में लोगों के शरीर में प्रवेश कर जाता है। चिकित्सकों ने प्लास्टिक के गिलासों और पॉलिथीन में गरम पेय पदार्थों का सेवन न करने की सलाह दी है। हमें अपने गांव-नगर को स्वच्छ रखने के लिए पॉलीथीन के प्रयोग से भी बचना चाहिए। बाजार जाते समय झोला लेकर जाना चाहिए। प्रधानाध्यापक विकास द्विवेदी ने बताया कि स्वच्छता किसी भी राष्ट्र, समाज, परिवार, व्यक्ति की तहजीब व संस्कार को प्रदर्शित करता है। इसलिए हम सभी को इस पर ध्यान देना होगा। स्वच्छता लाख रोगों की एक दवाई है। इसे समाज के प्रत्येक व्यक्ति को अपनाना चाहिए। इस उपयोगी मिशन को सफल बनाने के लिए हम सभी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। इस अवसर सभी उपस्थित बच्चों स्वच्छता शपथ दिलायी स्वयंसेवको ने वातावरण को पॉलिथीन मुक्त बनाने में पॉलिथीन के बजाय कागज से बने लिफाफे और कपड़े का बैग इस्तेमाल करने का आह्वान किया। इस दौरान प्रधानाध्यापक विकास द्विवेदी, सहायक अध्यापक अर्चना, शिक्षामित्र संध्या पोरपाल, रंजना देवी, आंगनवाडी कार्यकर्ता उर्मिला देवी राष्ट्रीय युवा स्वयं सेवक शैलेंद्र सिंह व रामकिशोर सिंह सहित ग्रामीण मौके पर मौजूद रहे।

ramkishorkushwah

I'm journalist of kabir kiran news
Close Menu